भारत के महान वैज्ञानिक जो पूरे दुनिया में मशहूर है

हमारे देश में समय समय पर ऐसे महान लोगो ने  जन्म लिया है जिन्होंने हमारे देश का नाम ऊँचा किया है. इन महान लोगो ने सिर्फ भारत को नहीं बल्कि पूरे विश्व को अपनी प्रतिभा का परिचय दिया है. ऐसे ही महान लोगो में शामिल है हमारे देश के महान वैज्ञानिक जिन्होंने विज्ञान के क्षेत्र में दुनिया  को नयी नयी खोज प्रदान की.

चंद्रशेखर वेंकट रमन (CV RAMAN)

भौतिकी में नोबेल पुरस्कार पाने वाले सर चद्रशेखर वेंकट रमन का जन्म तमिलनाडु के तिरुचिरापल्ली शहर में 7 नवंबर 1888 को हुआ था. इनके  पिता का नाम चंद्रशेखर अय्यर तथा माता का नाम पार्वती अम्मा था.रमन के पिता भौतिक विज्ञानं व गणित के टीचर थे जिस कारण रमन ने उनकी कई किताबो को पढ़ना शुरू कर दिया था.

जिसका फल इन्हे आगे जाकर मिला इन्होने स्पेक्टरम से संबंधित रोमन प्रभाव का आविष्कार किया. इसी के चलते  सन 1930 में इन्हे भौतिकी के नोबेल  पुरस्कार से सम्मानित किया गया.भारत सरकार ने विज्ञान के क्षेत्र में बहुमूल्य योगदान के लिए देश का सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारत रतन ‘ दिया. साथ ही सयुक्त राष्ट्र संघ ने भी ‘लेनिन शांति पुरस्कार ‘ से सम्मानित किया.

हरगोविंद खुराना 

चिकित्सा में नोबेल पुरस्कार विजेता डॉ. हरगोविंद खुराना को जीन के संश्लेषण के लिए पूरे विश्व में जाना जाता है. इनका जन्म 9 जनवरी 1922 को रायपुर,मुल्तान (पाकिस्तान ) में हुआ. हरगोविंद खुराना का जन्म एक गरीब परिवार में हुआ पर हरगोविंद खुराना ने हमेशा अपनी पढाई पर ही ध्यान दिया है.

जैनेटिक कोड को समझने और प्रोटीन संश्लेषण के लिए महत्वपूर्ण भूमिका के लिए सन 1968 को डॉ. खुराना को चिकित्सा में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया. अमेरिका ने ‘नेशनल एकडेमी ऑफ़ साइंस ‘ की सदस्य्ता भी प्रदान की है.

सुब्रमण्यम चंद्रशेखर

सन 1983 में भौतिकी में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित बीसवीं सदी के महानतम वैज्ञानिको में शुमार सुब्रमण्यम चंद्रशेखर  का जन्म 10 अक्टूबर 1910 को लाहौर में हुआ था. सुब्रमण्यम चंद्रशेखर को तारो  पर की गयी खोज के लिए जाना जाता है. सुब्रमण्यम चंद्रशेखर भारत के महान भौतिकी वैज्ञानिक व विजेता नोबेल पुरस्कार CV RAMAN के भतीजे थे. इन्होने अपनी प्रारम्भिक शिक्षा अपने माता पिता से ही ग्रहण की तथा बारह वर्ष में हिन्दू हाई स्कूल में दाखिला लिया.

ए .पी जे . अब्दुल कलाम 

मिसाइल मेन के नाम से प्रसिद्ध  और भारत के राष्ट्रपति डॉ. ए पी जी अब्दुल  कलाम का जन्म 15अक्टूबर 1931 रामेश्वरम तमिलनाडु में हुआ. सन 1962 में डॉ. अब्दुल कलाम ‘ भारतीय अंतरिक्ष अनुसन्धान संगठन में शामिल हुए. डॉ. ए पी जी अब्दुल कलाम को समाज व देश के लिए किये गए अपने सराहनीय कार्यो के लिए पुरस्कार मिले जिसमे भारत सरकार दिए गए भारत के सबसे बड़े नागरिक सम्मान भारत रत्न,पद्म भूषण व पद्म विभूषण शामिल है. इनका निधन 27 जुलाई 2015 को शिलॉन्ग मेघालय में हुआ.

For more such informative articles stay tuned to OWN TV

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.